इश़क़ है ऐसी दवा ज़ख्मों को देती जो जन्म
वो भी कया र्दद ए मौहब्बत जिसमे न हासिल मात हो
0 0 0 0 0 0 0
Like Like Like Like Like Like Like