Guest
Guest
20 August 2011 12:18:50 PM UTC
In: Shayari

Romantic Shayari is a collection of deeply romantic shayari's mostly written in Hindi font which are for those who want to show their love to their sweethearts. They are for those in the dreamland of love, for thosew who cannot stop thinking about their lovers.

Romantic Hindi Shayari in Hindi Font
उसको चाहा पर इज़हार करना नही आया,
काट गई उमर हमे प्यार करना नही आया.
उसने कुछ माँगा भी तो माँगी जुदाई,
और हमे इनकार करना नही आया
By (anonymous)
on 8/20/2011 12:19:45 PM

 

SMS Shayari
ये इश्क़ नहीं आसान ये तोहफा है खुदा का,
बंधन है ये दिलों का ये हक़ीकत है ज़िंदगी का,
ये इश्क़ नहीं आसान ये नशा है मोहब्बत का,
ये जान है इश्स दिल का अरमान है ये ज़िंदगी का
By (anonymous)
on 8/20/2011 12:20:02 PM

 

Love
क्या कहूँ क्या हो तुम?
मेरे लिए मेरी दुनिया हो तुम,
चू के जो गुज़रे वो हवा हो तुम,
मैने जो माँगी वो दुआ हो तुम,
किया मैने वो एहसास हो तुम,
मेरी नज़र की तलाश हो तुम,
मेरी ज़िंदगी का करार हो तुम,
मैने जो चाहा वो प्यार हो तुम,
मेरे इंतज़ार की रहट हो तुम,
मेरे दिल की चाहत हो तुम,
तुम हो तो दुनिया है मेरी,
कैसे कहूँ की सिर्फ़ प्यार नही,
“जाना” मेरी जान हो तुम
By (anonymous)
on 8/20/2011 12:20:25 PM

 

Love मोहब्बत
कहते हैं जिसको मोहब्बत
वो कभी नहीं था मेरा
चाहा था जिस को हुँने
वो कभी नहीं था मेरा
रोइए थी में बुहात
नहीं यह किसी ने जाना
चाहूं में अगर हसना
तो रोए यह ज़माना
चाहा बुहात के केहदूँ
फिर भी ना कह पाइए
मारना चाहा था में ने
फिर भी ना मार पाइए
सब कहते हैं यह हमेशा
वो होगा एक दिन मेरा
जाने कब वो दिन आएगा
जब मुझे यह खुशी नसीब होगी
By (anonymous)
on 8/20/2011 12:21:09 PM

 

Love at first sight
जबसे तुमको देखा है,
एक ल़हेर सी ऊत रही है मॅन में मेरे,
क्यू दिल यह मेरा बेकरार है,
क्या यह सिर्फ़ मेरे दिल की पुकार है,
या इसी का नाम प्यार है?

तुम्हे देहकती हून तो लगता है तुम मेरे लिए बनाए गये हो,
तुम याद करती हून तो लगता है के तुम सिर्फ़ मेरे ख्वाब बनाए गये हो,
तुम्हे पाने के लिए जान देने को मॅन करता है,
तुम्हारी याद में दिल बार बार आहे भरता है,

लगता है के मैं जान गयी हून के प्यार क्या होता है,
पर तुम भी यह जान लो सनम,
वो तुम ही हो जिसे मेरा दिल बार बार प्यार करता है.
By (anonymous)
on 8/20/2011 12:21:33 PM

 

Romanctic Thoughts and Feelings
तू नही तो तेरी तस्वीर ही सही.
मोहब्बत में आँखों से नीर ही सही.
डूंड रहा है “धन्वंत” खीची से होगी कहीीन,
तेरे नाम से हथेली पर लकीर ही सही
By (anonymous)
on 8/20/2011 12:22:01 PM

 

मोहब्बत Pyar
तेरी मोहब्बत में गिरफ्तार हो गया.
ना जाने कियों तुम से प्यार हो गया.
कोई है दिल जो धड़कता है मेरे लिए,
उस धड़कन पे मैं निस्सार हो गया.

तुम हेस्ट हो तो हम हेस्ट हैं.
माना तेरे दिल में बस्ते हैं
चाहत की चैगरी कब शोला बन गयी दिलबर,
तेरे डेदार को हम तरसते हैं.

प्यारी सी बातें तेरी मज़ा देती हैं.
दूरियाँ है दरमियाँ सज़ा देती हैं.
रोशनी बनके आईई तू ज़िंदगी में इस तारा,
मस्त आदयें तेरी वफ़ा देती हैं.
By (anonymous)
on 8/20/2011 12:22:23 PM

 

हुस्न की तारीफ शायरी
तेरे शहर मे मेरा जनाज़ा तेरी गली से गुजर रा हो
मेरे जनाज़े का फूल हर एक तेरी गली मे बिखर रा हो
या इससे फ्ले मेरी मोहब्बत ज़रा सा तू ऐतबार क्र दे
खड़ा हू तेरे ही घर क नीचे ज़रा सा मुझको भी प्यार क्र दे


जब से एक लम्हा तेरे साथ जिया है,
कमी को तेरी हर पल महसूस किया है,
बनी गुनहगार खुद की नज़रों मे,
उससे पहले तेरा नाम लिया है


दिखाकर एक झलक,
वो अपने हाथों से मुखड़ा च्चिपा लेती है.
तरसते रहते हैं हम उनके दीदार को,
वो दिल पर बिजली गिरती चली जाती है


तुम्हारे ईं खूबसूरत आँखोने मुज़पे जाड़ो क्या चलाया
संहज में नही आता ये कैसा जाम तुम्हने पिलाया
दिन के उजाले मे भी ना जाने कहाँ सा को जाता हून में
समंदर से घेरी ईं बंद आँखोमे भी डूब जाता हून में


आज फेर ली उन्होने आँखे हुंसे,
जो हुंपे जान निसार करते थे.
आज नाम लेते भी कतराते हैं,
जो कभी हुंसे मुहब्बते इकरार करते थे

ना खुदा दिल बनता ना किसीसे प्यार होता,
ना किसीकि याद आती ना किसिका इंतज़ार होता.
दिल दिया है इसे संभाल के रखना,
शीशे से बना है पठार से दूर रखना!

अगर हम ना होते तो गाज़ल कौन कहता,
आप के चेहरे को कमाल को कहता,
यह तो करिश्मा है मोहब्बत का,
वरना पत्रो को ताजमहल कौन कहता

चाहो तो दिल से हमको मिटता देना
चाहो तो हुमको भुला देना
पर यह वाडा करो की आए जो कभी याद हमारी
तो रोना नही बस मुस्कुरा देना…

तरसती नज़रों की प्यास हो तुम,
तड़प्ते दिल की आस हो तुम,
बुजती ज़िंदगी की सास हो तुम,
फिर कैसे ना काहु? कुछ खास हो तुम

आँखों मे अरमान दिया करते है,
हम सबकी नींद चुरा लिया करते है,
अब से जब जब आपकी पालके झपकेगी
समाज लेना तब तब हम आपको याद किया करते है
By (anonymous)
on 8/20/2011 12:23:38 PM

 

Infactuation
हर पल इंतेज़ार करता हून,
की तुम्हारी आवाज़ सुन सकूँ,
कुछ तुम्हारे दिल की बात,
कुछ अपना हाल कह सकूँ,
जो कभी किसी ने किसी को ना किया हो,
वो प्यार मैं तुम्हे दे सकूँ
By (anonymous)
on 8/20/2011 12:24:07 PM

 

You and Me
प्यार का कोई भेद ना जाने
जाने कैसे होता है.
हुँने तुमको अपना माना
जाने कैसे होता है.
एहसास तुम्हारा हरदम रहना
जाने कैसे होता है.
बिन बोले सब कुछ कह जाना
जाने कैसे होता है.
रूह में समा के आँखो में आना
जैने कैसे होता है.
इस प्यार का कोई मोल ना जाने
जाने कैसे होता है
By (anonymous)
on 8/20/2011 12:24:50 PM

 
0 0 0 0 0 0 0
Like Like Like Like Like Like Like