Guest
Guest
20 August 2011 12:31:05 PM UTC
In: Shayari

Hindi Love Shayari as the name suggests are thoughts in the form of Hindi words and elegant poetry written by those in love and those who yearn to see, feel and talk to their sweethearts. These are in Hindi font and some mobile phones which do not have unicode support might not be able to see these properly.

इश्क़ or हिन्दी Hindi Love Shayari
इश्क़ तुझसे करता हून
मैं ज़िंदगी से ज़्यादा
मैं डरता नही मौत से
तेरी जूदा से ज़्यादा
चाहे तो आज़माले मुझे
किसी और से ज़्यादा
मेरी ज़िंदगी मे कुछ नही
तेरी मोहब्बत से ज़्यादा

बंद रखते है ज़ुबान लूब खोला न्ही करते
चाँद के सामने सितारे बोला न्ही करते
याद करते है तुमको हर पल लेकिन
ये राज़ होतो से कभी खोला नही करते

दिल की बात ज़ुबान पे आने की है बारी
प्यार की मंज़िल ढूंडती है अपनी ये सवारी
दिल को दिल से मिलने की है तायरी
और इन लम्हो की खुश्बू में डूबी है दुनिया सारी

ये और बात है हम तुमको याद आ ना सके
शराब पी के भी हम तुमको भुला ना सके
ये फसलो की है बस्ती इसी लिए यारों
वो पास आ ना सके हम भी पास जा ना सके
सुकु दिया है ज़माने को मेरे नगमो ने
अज़ीब बात है खुद को ही हम हस्सा ना सके
By (anonymous)
on 8/20/2011 12:32:14 PM

 

Waiting for Love
इज़हारे प्यार का ये अंदाज़ निराला है
खामोश है लब पेर इकरार पियारा है
सादा हून सदाकत का मारा हून
कैसे संजू क्या तेरा इस्सारा है

इज़हारे प्यार का ये अंदाज़ निराला है
खामोश है लब पेर इकरार पियारा है
नज़रे है जूक जुकी पेर आँखू मे शरर्त है
तारे तस्वीर नही तो क्या तारे लफ़ज़ो का सहारा है.

इज़हारे प्यार का ये अंदाज़ निराला है
खामोश है लब पेर इकरार पियारा है
अंजन हे सफ़र हमराही भी अंजन है
तारे तस्वीर नही तो क्या तारे लफ़ज़ो का सहारा है.
By (anonymous)
on 8/20/2011 12:32:40 PM

 

Love, Romance and Affection
कभी लगा वो ह्यूम सता रहे हे,
कभी लगा के वो करीब आ रहे हे,
कुछ लोग होते हे आँसुओ की तारह हे,
पता ही नही लगता साथ दे रहे
हे या छोड़ के जा रहे है

टूटा हुआ दिल किसी के कम नही आता,
बिछड़े हुए लोगो का पैगाम नही आता,
तुम कभी ना बिछड़ना मेरे दोस्त,
क्योकि दिल तोड़ने वालो मे तुम्हारा नाम नही आता.

डिळ मे छिपी यादो से सवारू टुजे
तू दिखे तो अपनी आँखो मे उतारू टुजे
तेरे नाम को मेरे लाबो पर ऐसे सजाया है
सो भी जौ तो ख्वाबो मे पुकारू टुजे

पानी का 1 कटरा पॅल्को पे छा गया
ये मौसम हाल-ए-दिल आपका बता गया
उदास हो रहे थे ना आप मेरे स्मस के बिना ?
चलो अब मुस्कुराव हुमारा स्मस आ गया.

ये ज़िंदगी तेरे साथ हो
ये आरज़ू दिन रात हो
मई तेरे संग संग चालू
तू हर सफ़र मई मेरे साथ हो
मई कंतो पर भी चल पदू
तेरे प्यार की जब बरसात हो

कभी शाम ढले जब हम मिले
ना दिन ढले ना रात हो
ये आरज़ू दिन रात हो
ये ज़िंदगी तेरे साथ हो

तुम्हारी दुनिया से चले जाने के बाद हम तुम्हे
हर एक तारे मे नज़र आया करेंगे
तुम हर पल कोई दुआ माँग लेना
और हम हर बार टूट जया करेंगे
By (anonymous)
on 8/20/2011 12:33:36 PM

 

Collection
ऐसा नही की आप की याद आती नही,
ख़ाता सिर्फ़ इतनी की हम बताते नही,
दोस्ती आप की अनमोल है हमारे लिए,
संजते हो आप इसलिए जताते नही.


मोहब्बत का मतलब इंतज़ार नही होता,
हर किसी को देखना प्यार नही होता,
यू तो मिलता है रोज़ मोहब्बत-ए-पैगाम,
प्यार है ज़िंदगी जो हर बार नही होता!


देखी जो सूरत आपकी
ये दिल बेचारा मचल गया
रखना हिफ़ाज़त से अपनी आडया को
आडया पे आपकी ये दिल घायल हो गया

एक प्यारी सी काली थी जो फूल बन गयी
एक नन्ही सी मुस्कान थी जो हसी बन गयी
ये छोटी छोटी सी मुलाकात अब तो प्यार बन गयी
और आपका हर पल साथ तो जैसे बाहर बन गयी

हिचक़ियों से एक बात का पता चलता है
की कोई ह्यूम याद तो करता है
बात ना करे तो कोई घाम नही
पर कोई आज भी हम पर अपने
कुछ लम्हे बर्बाद तो करता है

नज़रें मिली तो लगा जैसे सपना
पास दिखी तो लगा कोई अपना
दिल को आपसे बस यही है कहना
की आपका प्यार तो है दिल का गहना

तम्माना-ए-इश्क़ तो हम भी रक्ते हैं,
किसी के दिल मे हम भी धड़कते हैं,
ना जाने वो कब मिलेंगे
जिन के लिए हम रोज़ तड़प्ते हैं.

पलकों मे क़ैद कुच्छ सपने है,
कुच्छ बेगाने कुच्छ अपने है,
ना जाने क्या कशिश हे इन ख़यालों मई
वो गैर होके भी कितने अपने है.
By (anonymous)
on 8/20/2011 12:34:53 PM

 

Pyar Love Romance
ये केसा प्यार हे जो मेरे दिल्मे बस गया,
मुझ को आप नि ज़ात से जेसे अल्ग सा कर गया

दम घुता जाता हे मेरा तू तो
जा के आए ना याद तेरी आके

साजन मेरे दिल से जाए ना खो गया
सब मेरी खुष्ीोन का वो कारवाँ तेरे

जाने से गया वो साथ मेरे जो था
तू ना आया लूट के क़ुँ याद

दिल से जाए ना आजा अब तो एक पाल भी
तेरे बिन जिया जाए ना

याद तेरी दिल से मेरे अब तो आके जाए ना
दम घुता जाता हे मेरा क़ुँ तो जाके आए ना

गुट रहा हे मेरा दम तू तो
जाके आए ना डीड की हसरात मे तेरे,

जान मेरी, जाए ना
By (anonymous)
on 8/20/2011 12:35:31 PM

 

Romantic Thoughts
हसी फूलों को आती है,
जब आप मुस्कुराते हो
हुमारी दुनिया बदल जाती है,
जब आप मुस्कुराते हो
आपकी मुस्कुराहट के आयेज भला,
क्या चाँद की रौनक
हुज़ूर खुद चाँद भी शरमाता है,
जब आप मुस्कुराते हो
By (anonymous)
on 8/20/2011 12:36:02 PM

 

प्यार
ना कुछ हम जाने ना कुछ वो जाने
फिर प्यार ये केसा
की दोनो कुछ ना जाने

प्यार तो होता है एक दूसरे की फीलिंग जानने के लिए
बुत यहा तो हाल है एसा की ना कुछ हम जाने ओर ना कुछ वो जाने

यार दोनो को है प्यार बेशुमार
बुत ना कुछ वो जाने ना कुछ हम जाने

यार बात करोगे तो जानोगे
की सोचते ही रह जाओगे

ओर एक दिन एसा आएगा की
ना कुछ हम जाने
ओर वो सब कुछ जाने

बुत किसी ओर के लिइए
क्योकि उसे किसी ने बताया की
हम तो ये जाने की तुम्हरे दिल मई क्या है
By (anonymous)
on 8/20/2011 12:36:41 PM

 

Dil
देखा है जबसे तुमको, मेरा दिल नही है बस्में
जी चाहे आज तोड़ डून दुनिया की सारी रस्में
तेरा हाथ चाहता हून, तेरा साथ चाहता हून
बाहों में तेरी रहना मैं दिन रात चाहता हून

चाहेंगे उमर भर हम सुबह शाम तुमको
हुँने बना लिया है दिल का अरमान तुमको
मेरे सिवा किसी पर नज़रें-करम ना करना
सितम कोई करना बस ये सितम ना करना
अपने दिल से ये प्यार कम ना करना

हुनमे चाहा तुम्हे, हुँने पूजा तुम्हे
और तुमने चाह से ना कभी देखा ह्यूम
तुम अपने थे फिर भी बेगाने रहे
हम बेगाने थे फिर भी तुम्हारे रहे

नड्दान है वो, हैरान है वो
खुद अपने ही सवालों से, परेशान है वो

क्या बतौन उन्हे, की प्यार क्या होता है
अभी सॅकी मोहब्बत से, अंजान है वो

खो ना जायें आप दुनिया की भीड़ में
इसलिए दिल में च्छुपाकर रखता हून
तुमको लगे ना किसी की बूरी नज़र
इसलिए आँखों में बसाकर रखता हून

प्यार की रस्म निभा दी हुँने
अपनी हस्ती जो मिटा दी हुँने
हुमको ख़ुसी ना मिली कभी
शमा की तरह ज़िंदगी ज़ला दी हुँने

अब हम किसी की भी तमन्ना ना करेंगे
अब राह भी किसी की देखा ना करेंगे
मेरे दर्द से वाकिफ़ ना हो जाए मेरा साया
अब इस अंधेरे दिल में उजाला ना करेंगे
आखें जाली, रूह जाली, दिल जला, जिस्म जला
दीया उमीद का पलकों पर जलाया ना करेंगे

किसी के अरमान ऐसे ठुकराया नही करते
मनाने वालों से ऐसे रूठ जया नही करते
खफा होता है खुदा भी किसी को सताने से
अपनो को इस कदर तो तडपया नही करते
By (anonymous)
on 8/20/2011 12:37:45 PM

 

Dost
तुम्हारी इस अदा का क्या जवाब डू,
अपने दोस्त को क्या उफर डू,
कोई अछा सा फूल होता तो माली से मँगवाते,
जो खुद गुलाब है उसको क्या गुलाब डू…

रब ने जब तुझे बनाया होगा
एक सुरूर उसके दिल में आया होगा,
सोचता होगा क्या दूँगा तोहफे में तुझे,
तब उसने मुझे बनाया होगा.

काश हम स्मस होते,
एक क्लिक में तुम्हारे पास होते,
भले तुम हमे डेलीट कर देते,
पर कुछ पल के लिए हम तुम्हारा एहसास तो होते!

तन्हाईओं मे उनको ही याद करते हैं,
वो सलंत रहे यही फरियाद करते है,
हम उनके ही मोहब्बत का इंतज़ार करते है,
उनको क्या पता हम उनसे कितना प्यार करते है.

एक दिन हमारे अंन्सून हुंसे पूच बैठे,
हुमे रोज़ -रोज़ क्यों बुलाते हो,
हुँने कहा हम याद तो उन्हे करते हैं तुम क्यों चले आते हो.

हर फूल की अजब कहानी है,
चुप रहना भी प्यार की निशानी है,
कहीं कोई ज़ख़्म नई फिर भी क्यूँ दर्द का एहसास है,
लगता है दिल का एक टुकड़ा आज भी उसके पास है

किस्मत पर ऐतबार किसको है,
मिल जाए खुशी इनकार किसको है,
कुछ मजबूरियाँ हैं मेरे दोस्त,
वरना जुदाई से प्यार किसको है

कल मिला वक़्त तो ज़ूलफें तेरी सुलझा दूँगा,
आअज उलझा हून ज़रा वक़्त को सुलझाने में,
यूँ तो सुलझ जाती हैं उलझी ज़ूलफें,
उमर काट जाती है वक़्त को सुलझाने में.

डरते है आग से कही जल ना जाए
डरते है ख्वाब से कहीं टूट ना जाए
लेकिन सबसे ज़ियादा डरते है आपसे
कहीं आप ह्यूम भूल ना जाए
By (anonymous)
on 8/20/2011 12:38:56 PM

 
0 0 0 0 0 0 0
Like Like Like Like Like Like Like