उसने होठों से छू कर
दरिया का पानी गुलाबी कर दिया,
हमारी तो बात और थी उसने
मछलियों को भी शराबी कर दिया।
0 0 0 0 0 0 0
Like Like Like Like Like Like Like